लॉकडाउन में घर लौटा था मजदूर बेटा...खांसता रहा छुपाता रहा, अब पूरे परिवार में फैला कोरोना

बरेली में कोरोना वायरस का चौंकाने वाला सामने आया है। एक ही परिवार में 5 सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस परिवार के युवक को सबसे पहले कोरोना हुआ था और फिर परिवार के बाकी सदस्य भी इसकी चपेट में आ गए।
मंगलवार सुबह आई इस रिपोर्ट के बाद हड़कंप मच गया है। इस परिवार के युवक को सबसे पहले कोरोना हुआ था। यह युवक जिले का पहला कोरोना पॉजिटिव केस था। फिलहाल सभी पॉजिटिव लोगों को आइसोलेशन वॉर्ड में रखकर इलाज किया जा रहा है।
हालांकि युवक के दो साल के बेटे और परिवार के दो अन्य लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आने से परिवार ने थोड़ी राहत की सांस ली है। लेकिन परिवार के बाकी लोग बुरी तरह बीमार पड़ गए हैं।
सुभाष नगर इलाके में रहने वाला यह युवक 22 मार्च को नोएडा से लौटा था। युवक की तबीयत पहले से खराब थी। कोरोना वायरस के लक्षण दिखने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने उसे क्वारंटाइन करके जांच के लिए सैंपल लखनऊ भेजा था। बीते शनिवार की देर रात युवक की जांच पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी।
इधर युवक को आइसोलेशन में रखकर उसका इलाज शुरू किया गया। वहीं उसके संपर्क में रहे परिवार के अन्य लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। लखनऊ भेजे गए युवक के परिवार के सैंपल की जांच मंगलवार की सुबह आई। जांच रिपोर्ट में परिवार के पांच सदस्यों, युवक की पत्नी, माता, पिता, भाई और बहन में कोरोना पॉजिटिव पाया गया।
परिवार के छह लोगों में कोरोना होने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने पूरे इलाके को सैनेटाइज किया। अधिकारियों ने बताया कि नोएडा से लौटने के बाद युवक को घर में ही क्वारंटाइन कर दिया गया था, जिससे वह किसी और के संपर्क में नहीं आ पाया।
अधिकारियों ने बताया कि युवक नोएडा की एक अग्निशमन उपकरण बनाने वाली कंपनी में काम करता था। वह वहीं से संक्रमित होकर आया था। वह जिस कंपनी में काम करता है उस कंपनी के कई अन्य लोगों में कोरोना पॉजिटिव मिला है।
मेरठ में भी हाल ही में कुछ ऐसा ही केस सामने आया था, जहां एक शख्स महाराष्ट्र से लौटा था। वह कोरोना पॉजिटिव था और धीरे-धीरे 13 लोग संक्रमित हो गए। बाद में मेरठ में यह आंकड़ा 19 तक पहुंच गया।
बरेली. कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए प्रधानमंत्री ने पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगा दिया था। 22 मार्च को लगे जनता कर्फ्यू के अगले दिन सैकड़ों लोग अपने घरों को भाग निकले। पर बहुत लोग ऐसे भी थे जो कर्फ्यू से पहले ही या उसी दिन घर को निकल लिए। ऐसे ही नोएडा से एक मजदूर बरेली में अपने गांव गया था। वो पहले से ही बीमार था लेकिन अब खबर है कि उसकी वजह से पूरा परिवार कोरोना संक्रमित हो गया है।