10 बीघा गेहूं के खेत में लग गई आग, 150 क्विंटल गेहूं जलकर हो गया खाक!

खेत में लगी आग को एक युवक की समझबूझ से समय रहते काबू पा लिया गया। मौके पर फायरबिग्रेड पहुंचती इसके पहले ही आग पर काफी हद तक नियंत्रण कर लिया गया था। नगर मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर ग्राम तालोद में जंगल के पास बने राजेन्द्र सिंह यशोना के 10 बीघा के खेत में फसल पककर तैयार थी। मंगलवार को सुबह 11 बजे राजेंद्र सिंह के पास के खेत में हार्वेस्टर से गेहूं की फसल कटाई की जा रही थी। 
जिसके दौरान हार्वेस्टर बिजली के तारों से टकरा गई, जिसके चलते उसकी चिंगारी खेतों में पहुंच गई। लगभग सभी खेतों में फसल कटाई का काम चल रहा था, पास में अपने खेत पर खड़े युवक रणधीर कुशवाह ग्राम काछी गुराडिय़ा ने अपने टै्रक्टर में पीछे पंजा लगाया और आग लगे हुए क्षेत्र के आसपास टै्रक्टर चला दिया। खेत में गेहूं की फसल खड़ी थी, टै्रक्टर चलाने में भी दिक्कत आ रही थी, फिर बहादुरी दिखाते हुए उसने आग की लपट को और बढऩे से रोक दिया। पूरा गांव उसकी तारीफ कर रहा था।

गांव तालोद के महेंद्र सिंह ने बताया की यदि समय रहते युवक द्वारा खेत के पास के क्षेत्र में ट्रैक्टर नहीं फेरा जाता तो शायद 1000 बीघा के गेहूं जलकर खाक हो जाते। खेत के आसपास के क्षेत्र में ट्रैक्टर का पंजा चलाने से आग ज्यादा नहीं फैली और 10 बीघा के टुकड़े में ही आग सीमित रह गई। जब तक फायर ब्रिगेड पहुंचती तब तक ग्राम के युवकों की समझदारी से आग 80 प्रतिशत तक बुझ गई थी, बाकी आग पर काबू फायर ब्रिगेड के द्वारा पाया गया।