यूपी: 15 जिलों के इन इलाकों को किया जाएगा सील, पूरी लिस्ट यहां देखें

लखनऊ, शामली, मेरठ, बरेली, बुलंदशहर, आगरा, ग़ाज़ियाबाद, नोएडा, महाराजगंज, सीतापुर, सहारनपुर, बस्ती, फ़िरोज़ाबाद और कानपुर के हॉटस्पॉट सील किए जाएंगे.
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य के 15 जिलों के हॉटस्पॉट को पूरी तरह सील करने का फैसला लिया है. 15 जिलों में लखनऊ, आगरा, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, कानपुर, वाराणसी, शामली, मेरठ, बरेली, बुलंदशहर, फिरोजाबाद, महाराजगंज, सीतापुर, सहारनपुर, बस्ती शामिल है. प्रभावित इलाकों को सील करने के मुद्दे पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि जिन इलाकों को सील किया गया है, वहां लोग एक मोहल्ले से दूसरे मोहल्ले में भी नहीं जा पाएंगे.

15 चिन्हित ज़िलों के SP-SSP-DM की वीडियो कॉन्फ्रेंस में DGP और ACS Home अवस्थी ने स्पष्ट किया की इन जिलों में भ्रम की स्थिति ना पैदा हो. उन्होंने कहा कि Hotspot का मतलब अधिकारी ज़िलों में स्पष्ट करें. Hotspot का मतलब है- ऐसी जगह जहां पॉजिटिव केस पाये गये हैं.

उत्तर प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति किसी भी मुहल्ले का पाया गया तो वहां के 300 मीटर के दायरे को सील कर देंगे. उसके आने जाने वाले रास्ते को सील कर देंगे. इन हॉटस्पॉट से संक्रमण फैलने की लगातर आशंका बनी हुई थी. लिहाजा इन इलाकों में पूरी तरह से लॉकडाउन कराया जाएगा. साथ ही इन इलाकों में सैनिटाइज किया जाएगा.

अवनीश अवस्थी के मुताबिक़ जिन जनपदों में 6 से ज्यादा कोरोना वायरस से जुड़े मामले सामने आए हैं, उन इलाकों को चिन्हित कर सख्त से सख्त व्यवस्था लागू की जाएगी. सभी 15 जिलों में यह व्यवस्था लागू की जाएगी. आगरा में 22, गाजियाबाद में 13, गौतम बुध नगर में 12, वाराणसी में 4, शामली में 3, मेरठ में 7, बरेली में 1, बुलंदशहर में 3, बस्ती में 3, फिरोजाबाद में 3, सहारनपुर में 4, महाराजगंज में 4, सीतापुर में 1, लखनऊ में 8 बड़े हॉटस्पॉट और छोटे 4 हॉटस्पॉट पाए गए हैं. इन सभी हाट्स्पॉट्स में विशेष रूप से जन सहयोग से लेकर 100% लॉकडाउन का पालन करना पड़ेगा.

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा, प्रभावित हाट्स्पॉट्स में जो क्लस्टर बनाये गए हैं, वहां सैनिटाइजेशन ड्राइव चलाया जाएगा. यहां पर जो पास निर्गत किये गए हैं, उन्हें निरस्त किये जायेंगे. इन स्थानों पर लोग बाहर नही निकलेंगे. इन एरिया में लोगों के बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगाया जाएगा. लोगो को चिन्हित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि बैरिकेटिंग करके उन्हें जीरो जोन बनाया जाएगा और उन्हें डोर स्टेप डिलीवरी की शत प्रतिशत व्यस्था की जाएगी.

इन शहरों में हैं इतने इलाके

शामली- 3
मेरठ- 7
बरेली- 1
बुलंदशहर- 3
बस्ती- 83
फिरोजाबाद- 4
महाराज गंज- 4
सीतापुर- 1
लखनऊ- 11
बस्ती- 8

मेरठ के ये इलाके हो सकते हैं सील

मेरठ के परतापुर, मवाना, सरधना, शास्त्रीनगर, लिसाड़ीगेट और सिविल लाइन ये वो 6 इलाके हैं जिनपर प्रशासन की पहले से ही पैनी नजर है. इसकी सबसे बड़ी वजह है की इन इलाकों में कोरोना पॉजीटिव मरीजों के बढ़ते आंकड़े हैं. आपको बता दें कि परतापुर में 14 जमाती आइसोलेट किए गए जिनमें से 4 पॉजिटिव पाये गए हैं. मावन में 11 जमाती आइसोलेट किए गए जिनमें से 6 पॉजीटिव पाये गये हैं. सरधना में 9 जमाती आइसोलेट किए गए जिसमे से 4 पॉजिटिव पाये गये हैं. शास्त्री नगर में इकरामुल हसन जो महाराष्ट्र से आया था, ने अपने ही परिवार के 17 लोगो को संक्रमित किया है.

शामली जिले की तीन हॉटस्पॉट जगहें होंगी सील

शामली जिले की तीन हॉटस्पॉट जगहें होंगी सील. इसमें शामली सदर कोतवाली क्षेत्र का मोहल्ला नानुपुरा, भवन थाना क्षेत्र का गांव भैसानी इस्लामपुर, सम्पूर्ण थाना झिंझाना क्षेत्र. इन जगहों से कोरोना वायरस संक्रमित लोग मिले थे.

इसके अलावा सिविल लाइन में 2 पॉजीटिव मिले हैं. दोनो बाहर से आये थे. इसके अलावा लिसाड़ी गेट और ब्रह्मपुरी से आज ही 45 लोगों को क्वारन्टीन किया गया है. फिलहाल मेरठ में अबतक 332 जमातियों को क्वारन्टीन किया गया है. कुल 35 पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं इसमें से एक की मौत भी हो चुकी है. यही वजह है कि इन इलाकों को सील करने की बात जिला प्रशाशन DGP और अपर प्रमुख सचिव गृह के सामने रख सकता है.

लखनऊ के ये इलाके होंगे सील

मस्जिद अली जान कैंट, मोहम्दिया मस्जिद- वजीरगंज, अहमदिया मस्जिद सहादतगंज, अल हयात मस्जिद- मडियांव, रजौली मस्जिद- गुडंबा, नजरबाग मस्जिद कैसरबाग और तालकटोरा.

प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि 343 कोरोना मरीजों में 187 तब्लीगी जमात के लोग हैं. 26 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज कर दिए गए हैं. तब्लीगी जमात के बाद जो एकाएक कोरोना संक्रमितों की संख्या में जम्प आया था उसपर अब हम काबू पा चुके हैं.

14 अप्रैल तक है संपूर्ण लॉकडाउन

बता दें कि अभी जो देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है वो 14 अप्रैल तक जारी रहेगा. आज लॉकडाउन का पंद्रहवा दिन है. ये 21 दिनों के लिए लगाया गया है ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके.

भारत में कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति

भारत में कोविड-19 के मामले बढ़कर पांच हजार के पार हो चुके हैं. अब तक देश में इसके 5194 केस सामने आ चुके हैं. वहीं 149 लोगों की मौत हो चुकी है. इसके साथ ही इलाज के बाद 401 लोग रिकवर कर चुके हैं. देश में सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में हैं. यहां पॉजिटिव मामले की संख्या एक हजार को पार कर चुकी है. अब तक इस वायरस के 1018 पॉजिटिव केस सामने आए हैं. राज्य में 64 लोगों की मौत हो चुकी है. राजधानी दिल्ली में कोरोना के अब तक 576 और तमिलनाडु में 690 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं.