15 अप्रैल से आएंगे 'खुले दिन', इन शर्तों के साथ निकल सकते हैं घर से बाहर

कोरोना महामारी के बीच सभी के मन में एक ही सवाल उठ रहा है कि जिंदगी पटरी पर कब लौटेगी? जिंदगी के आम पटरी पर लौटने में कितना वक्त लगेगा? इस तरह के कई सावल हैं, जो मन में उठ रहा है और इन सवालों का जवाब हर कोई जानना चाहता है।
इन सब के बीच कयास ये भी लगाया जा रहा है कि 14 अप्रैल के बाद भी दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन बढ़ सकता है क्योंकि पीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की हुई बैठक में कई सीएम ने लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की है। इसके अलावे चार राज्यों ने लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ा भी दिया है।

ऐसे में मध्य प्रदेश से एक अच्छी खबर मिल रही है। जानकारी के अनुसार, राज्य सरकार अब उन जगहों पर फिर से जिंदगी पटरी पर लाने की कशिश करेगी, जहां पर अभी तक एक भी व्यक्ति कोरोना से संक्रमित नहीं पाया गया है।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के 52 जिलों में से 23 जिले कोरोना से संक्रमित है। ऐसा में कयास लगाया जा रहा है कि 14 अप्रैल के बाद यानी 15 अप्रैल से 29 जिलों में कुछ शर्तों के साथ जिंदगी के आम पटरी लौटने की शुरुआत की जा सकती है।

तीन जोन में बंट सकता है प्रदेश

बताया जा रहा है कि इस बार जो लॉकडाउन होगा, वह पहले के जैसा नहीं होगा। इस बार प्रदेश को तीन जोन में बांट दिया जाएगा ताकि जान के साथ जहान को भी बचाया जा सके। संभवत: प्रदेश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांटा जा सकता है।

रेड जोन: रेड जोन में उन इलाकों को शामिल किया जाएगा, जहां से कोरोना संक्रमण के सबसे अधिक मामले सामने आ रहे है। ऐसे में इन इलाकों कर्फ्यू जैसे हालात रहेंगे।

ऑरेंज जोन:ऑरेंज जोन में वे इलाके या जिले रहेंगे, जहां से कोरोना वायरस के मामले कम हैं या पॉजिटिव मामलों की संख्या कोई बढ़ोतरी नहीं हो रही है।

ग्रीन जोन:इस जोन में वे इलाके या जिले रहेंगे जहां से अभी तक कोरोना को कोई मामला नहीं आया है। संभवत: इन इलाकों में कुछ शर्तों के साथ पब्लिक ट्रांसपोर्ट की इजाजत भी दी जा सकती है। हालांकि इस दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना पड़ेगा