2 हफ्ते तक सब्जी बेचती रही कोरोना संक्रमित महिला, घरवालों ने कहा- ना जाने कितनों को बांटा होगा वायरस

कोरोना का कहर पूरी दुनिया में  फैल गया है। मलेशिया भी इससे प्रभावित देशों में से एक है। मलेशिया में कोरोना संक्रमण के अब तक 2,626 मामले सामने आ चुके हैं और इससे 37 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां कोरोना के मामले तब तेजी से बढ़े, जब राजधानी कुआलालंपुर के पास मुस्लिम धर्मावलंबियों का बड़ा आयोजन हुआ, जिसमें करीब 15 हजार लोग जुटे थे। फिलहाल, मलेशिया के पहांग में एक ऐसी महिला सब्जी बेचती पाई गई जो कोरोना से संक्रमित थी। वह सर्दी-जुकाम से पीड़ित थी और इसे मामूली समस्या समझ कर सब्जियां बेच रही थीं। इस दौरान वह लगातार छींक और खांस भी रही थी। ऐसे में, अब यह पता नहीं कि उससे कितने लोगों में कोरोना का वायरस फैल गया होगा।

फैमिली वालों ने कराई जांच
जब उस महिला की सर्दी-खांसी की समस्या बढ़ती ही चली गई, तो उसके परिवार के लोगों ने उसकी जांच करवाई। जांच में सियाह जुसोह नाम की यह महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई। इसके बाद उसका इलाज शुरू हुआ और उसे आइसोलेशन में रखा गया। कोरोना से संक्रमित मरीजों को क्वारंटाइन में रहना जरूरी है, क्योंकि यह बीमारी एक-दूसरे के संपर्क में आने से फैलती है।

फैमिली मेंबर्स ने किया ट्वीट

जब पता चला कि महिला कोरोना से पीड़ित है तो उसके घर वालों ने एक ट्वीट कर इसकी जानकारी सबों को दी। महिला के बेटों ने ट्वीट में कहा कि वे इस बात से बेहद दुखी हैं कि उनकी मां जांच में कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। उन्होंने लोगों से कहा कि जो भी 16 मार्च से 29 मार्च के बीच उनकी मां के संपर्क में आए हैं, वे मेरापोह क्लिनिक में अपनी जांच तत्काल करा लें। इस ट्वीट को साढ़े छह हजार बार रिट्वीट किया गया।

लोगों ने की फैमिली की प्रशंसा

इस ट्वीट के बाद लोगों ने उस महिला की फैमिली की काफी प्रशंसा की और कहा कि इन्होंने लोगों को यह जानकारी देकर जिम्मेदरी की भावना का परिचय दिया है। कोरोना एक ऐसी बीमारी है, जिसे लेकर सबों को सावधानी बरतने की जरूरत है। सरकार तो इसे रोकने की कोशिश कर ही रही है, लेकिन जरूरत है कि हर व्यक्ति इसे लेकर जागरूक हो और अपनी जिम्मेदारी निभाए।