योगी सरकार का बड़ा फैसला, 3 से अधिक बच्चे हुए तो नहीं मिलेंगे ये अधिकार...

जनसंख्या बढ़ना एक बड़ी समस्या है, जिससे निपटने के लिए सरकारें समय-समय पर जनसंख्या नियंत्रण कानून की बात करती रही हैं। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीएम मोदी) ने भी लाल किले की प्राचीर से जनसंख्या विस्फोट पर चिंता व्यक्त की है।
अब यूपी की योगी सरकार जनसंख्या नियंत्रण को लेकर एक कार्ययोजना भी तैयार कर रही है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा है कि राज्य की सरकार जनसंख्या नियंत्रण के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और राज्य सरकार जल्द ही जनसंख्या नियंत्रण के लिए एक नीति लेकर आएगी।

सूत्रों के अनुसार, राज्य सरकार जनसंख्या नियंत्रण नीति पर तेजी से काम कर रही है। ऐसी अटकलें हैं कि सरकार भविष्य में जनसंख्या नियंत्रण कानून लाएगी। आपको बता दें कि इससे पहले, कई कार्यक्रमों के दौरान, सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण के संबंध में कानून या नीति बनाने के संकेत दिए थे।

दूसरी ओर, विशेषज्ञों का मानना ​​है कि जल्द ही विधानसभा में जनसंख्या नियंत्रण कानून लाया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार, सरकार 3 बच्चों तक की जनसंख्या नियंत्रण नीति बना सकती है। इससे ज्यादा, जिन लोगों के बच्चे हैं, उन्हें भी सरकारी नौकरी से निकाला जा सकता है।

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने एक साक्षात्कार के दौरान कहा कि जिन राज्यों ने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर किसी भी प्रकार की नीतियां बनाई हैं। उन सभी चीजों का अध्ययन उत्तर प्रदेश सरकार के अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि हम पूरे देश की जनसंख्या नियंत्रण नीति का अध्ययन करने के बाद उत्तर प्रदेश में बेहतर जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने का प्रयास करेंगे। वहीं, बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय, जिन्होंने जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए दिल्ली HC में याचिका दायर की है, ने भी कई बार सरकार का ध्यान आकर्षित किया है।

गौरतलब है कि भारत में 50 प्रतिशत समस्याओं के पीछे जनसंख्या विस्फोट है। जनसंख्या विस्फोट को जल, जंगल, जमीन, रोटी, कपड़ा, मकान, गरीबी, बेरोजगारी और भुखमरी की समस्याओं के कारण के रूप में उद्धृत किया गया है।

वर्ल्ड रैंकिंग में पिछड़े होने के पीछे जनसंख्या विस्फोट

ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत 103वें स्थान पर

साक्षरता दर में 168वां स्थान पर

वर्ल्ड हैपिनेस इंडेक्स में 140वां स्थान

जमीन से पानी निकालने के मामले में दुनिया में पहला स्थान, जबकि हमारे पास पीने योग्य पानी मात्र 4% है।
वर्तमान में, यूपी सरकार जनसंख्या नियंत्रण नीति के बारे में एक रोडमैप तैयार कर रही है और जब सही समय आएगा, तो जनसंख्या नियंत्रण नीति से संबंधित सभी नियम और कानून सामने आएंगे। ऐसे में यह देखना होगा कि योगी सरकार जनसंख्या नियंत्रण को लेकर क्या नीति अपनाती है।