कनिका कपूर हॉस्पिटल से छूटकर घर भी नहीं पहुंची कि पुलिस पीछे पड़ गई

कनिका कपूर लगातार पांच बार कोरोना वायरस पॉज़िटिव पाई गई थीं. आखिरी दो टेस्ट में फेल होने के बाद हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हो गई हैं. लेकिन अगले 14 दिन उन्हें अपने घर के भीतर क्वॉरंटीन में गुज़ारना होगा. ताकि उनकी वजह से किसी और को क्वॉरंटीन में न जाना पड़े. लेकिन डिस्चार्ज होते ही उनके माथे पर एक और बड़ी समस्या आन पड़ी है. अब उन्हें पुलिसिया प्रक्रिया से गुज़रना पड़ेगा.
लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने न्यूज़ 18 से बातचीत करते हुए बताया कि कनिका का क्वॉरंटीन पीरियड खत्म होते ही लखनऊ पुलिस उनसे पूछताछ करेगी. क्योंकि कनिका के खिलाफ लखनऊ के सरोजिनी नगर थाने में आईपीसी की धारा 188, 269 और 270 के तहत एफआईआर दर्ज हो रखी है. रिपोर्ट्स के मुताबिक कनिका पर ये मामले लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी की शिकायत पर दर्ज किए गए हैं. सिर्फ यही नहीं उनके खिलाफ हजरतगंज और महानगर थाने में भी एफआईआर दर्ज है. आरोप ये हैं कि उन्होंने सरकारी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया और कई लोगों की जान खतरे में डाली. इसी मामले में पुलिस उनसे पूछताछ करना चाहती है.

यूके से लौटने के बाद तमाम मशहूर हस्तियों के साथ पार्टी करती कनिका कपूर.
कनिका कपूर 9 मार्च को लंदन से भारत लौटी थीं. उसके बाद उन्होंने कई पार्टी और समारोहों में हिस्सा लिया था. कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद उनकी काफी आलोचना हुई. वायरस के लक्षण सामने आने के बाद कनिका को 20 मार्च को लखनऊ के अस्पताल में भर्ती करवाया गया था.
कनिका ने 20 मार्च को इंस्टाग्राम पर बताया था कि उन्हें COVID-19 बीमारी है. तब से ही वो डॉक्टरों की निगरानी में आइसोलेशन में थीं. बाद में उन्होंने उसी रिपोर्ट पर सवाल खड़े कर दिए, जिसमें उनके कोरोना वायरस पॉजिटिव होने की बात सामने आई थी. इसके बाद से वो लगातार पांच बार कोरोना वायरस पॉज़िटिव पाई गईं. लेकिन उनके आखिरी दो  रिपोर्ट्स नेगेटिव रहे हैं.