भूखे थे विदेशी, सब्जी पूड़ी खाकर हुए भावुक बोले-थैंक्यू इण्डिया

लॉक डाउन में जरूरतमंद लोगो तक पहुंच रही मदद से कई देशों के रहने वाले विदेशी पर्यटक भी रूबरू हुए। दो लक्जरी बसों पर सवार होकर 40 विदेशी जब लखनऊ पहुंचे तो यहां उनके साथ तीन और लोगो को जाना था। इतनी बड़ी संख्या में विदेशियों के आने पर एलआईयू, स्थानीय पुलिस और जीआरपी सक्रीय हो गई। जब उनसे पूछताछ हुई तो पता चला की उनको जोरो की भूख लगी थी।
एलआईयू और पुलिस ने लोगो की मदद कर रहे शिवम से सम्पर्क किया। कुछ देर में शिवम सब्जी पूड़ी एक करेड में लेकर आये। एक बार सब्जी पूड़ी खाने पर भी पेट न भरा तो दोबारा लाया गया। सब्जी पूड़ी खाकर विदेशी पर्यटक भावुक हो गए। बोले थैंक्यू इण्डिया। वी विल मिस इट। दरअसल भारत में फंसे विदेशी पर्यटकों को निकालने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने पहल की है। उनका एक पर्यवेक्षक वाराणसी पहुंचा। हरियाणा से दो खाली बसे वाराणसी लायी गईं। वहां से 40 विदेशियों को लेकर दोनों बसे रवाना हुईं।

लखनऊ से भी तीन विदेशी यात्रियो को लेकर आगरा जाना था। इनमे लखनऊ से फ्रांस निवासी दो और प्रयागराज से आये एक पर्यटक को लेकर जाना था। आगरा से दिल्ली पहुंचकर उनको एक होटल में रोकना था। जहां अपने अपने दूतावासों से कागजी प्रक्रिया पूरा कराकर उनको विशेष विमान से रवाना होना है। विदेशी नागरिकों के आने की सूचना पर दोपहर दो बजे ट्रैफिक इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने दो बजे बस को रोक लिया। इस बीच एलआईयू भी आ गई। विदेशी पर्यटक बस से उतरकर यूरिनल के पास बैठ गए। सबने सब्जी पूड़ी खायी। पानी और फिर बिस्किट की व्यवस्था से वे अभिभूत दिखे। रेलवे की सूचना पर सीएमओ की टीम मौके पर पहुंची। लखनऊ से सवार तीनो की थर्मल सकेनिंग जांच की गई। इसके बाद उनको आगे रवाना किया गया।