इन पुलिसकर्मियों के जज्बे को सलाम : कोरोना ड्यूटी में ही बिता रहे दिन-रात, अधिकारी-कर्मचारी मंदिर में खा रहे खाना

ऐसे में उनके जीवन की एक तस्वीर आपको दिखाना आवश्यक उस समय हो जाता है कि जब आप घर में रहकर आराम से खाना खा रहें है और आपके सुरक्षा की खातिर बिलासपुर पुलिस को घर का खाना भी ड्यूटी में बीजी होने के कारण नसीब नहीं हो रहा है! लिहाजा वे अपने पुरे स्टाफ के साथ ही मंदिर में बैठकर खाना खाते है और फिर वापस से ड्यूटी में रवाना हो जाते है!
कोरोना महामारी का ख़तरा एक दुसरे पर ना फैल सके, इस वजह से पुलिस दिन-रात ड्यूटी कर सड़कों पर बेवजह और अकारण घुमने वालों को घर में ही रखने की सलाह दे रही है और अपनी जान जोखिम में डालकर लोगो के जान की सुरक्षा कर रही है! ऐसे में उनके जीवन की एक तस्वीर आपको दिखाना आवश्यक उस समय हो जाता है कि जब आप घर में रहकर आराम से खाना खा रहें है और आपके सुरक्षा की खातिर बिलासपुर पुलिस को घर का खाना भी ड्यूटी में बीजी होने के कारण नसीब नहीं हो रहा है! लिहाजा वे अपने पुरे स्टाफ के साथ ही मंदिर में बैठकर खाना खाते है और फिर वापस से ड्यूटी में रवाना हो जाते है!
हालाकि इस वीडियों को देखकर बहुत कुछ कहने और लिखने को नहीं रह जाता है! चूँकि उनकी दशा और स्थिति-परिस्थियों पर शब्द भी कम पड़ने लगे है! इस सम्बन्ध में थाना प्रभारी कलीम खान ने बताया कि हम दिन और रात सिर्फ इसलिए ड्यूटी कर रहें है कि कोरोना का संक्रमण एक-दुसरे से किसी और को ना फ़ैल जाए! इस वजह से लॉकडाउन का पालन हर हाल में कराने के लिए पेट्रोलिंग टीम और पुलिस अधिकारीयों को फिल्ड में निकलना पड़ रहा है! ऐसे में घर जाने का समय भी नहीं निकल पाता, चूँकि अमूमन दिनों की तरह अभी काम भी दोगुना हो चुका है! अलबत्ता सभी पुलिस जवान और अधिकारी एक ही पंगत में फिजिकल डिस्टेंस बनाएं हुए कतारबद्ध होते है और मंदिर में बैठकर खाना खाते है, हालकि पल सुखद नहीं होता है, लेकिन जवाबदारी और जिम्मेदारी इसका अनुभव भी करा रही है!
वहीँ इस पुलिस अधिकारी और जवानों के जब्जे से भरे डेडिकेशन को देखकर बिलासपुर रेंज आईजी दीपांशु काबरा भी खुद को नहीं रोक पाए, और वे अपने ट्विटर हैंडल एकाउंट से इन जबाज पुलिसकर्मियों को बधाई देते हुए सोशल मीडिया में साझा भी किया है! जिसे लोग खूब पसंद भी कर रहें है और अब तक उनके एकाउंट से लगभग 30 हजार लोगों देखकर लाइक और कमेन्ट भी कर रहें है! इससे बिलासपुर पुलिस का मान और भी बढ़ने लगा है।