वीडियो में कोरोना को अल्लाह का अजाब बताकर नोटों से नाक-मुँह साफ करने वाला युवक गिरफ्तार

"यह अपराध है। यह व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो सकता है। यह नोटों से अपनी नाक पोंछ रहा है। नाक पोंछकर और थूककर यह नोटों को भी संक्रमित कर सकता है।"

कोरोना को अल्लाह की सजा बताने वाला गिरफ्तार
सोशल मीडिया पर एक युवक का वीडियो वायरल हो रहा था जिसमें युवक कोरोना वायरस को अल्लाह का अजाब (श्राप) बताकर पाँच सौ के नोटों की गड्डी पर नाक और मुँह पोंछते हुए नजर आ रहा था। नासिक पुलिस ने उस शख्स की पहचान कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

नासिक पुलिस ने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट में बताया कि नासिक ग्रामीण पुलिस (महाराष्ट्र ग्रामीण) की तरफ से अभियुक्त के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई है और वह अब पुलिस की हिरासत में है।

ट्विटर पर यह वीडियो शेयर करते हुए इस वीडियो के साथ @THEFACTGLOBAL ने लिखा है- “यह अपराध है। यह व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो सकता है। यह नोटों से अपनी नाक पोंछ रहा है। नाक पोंछकर और थूककर यह नोटों को भी संक्रमित कर सकता है।” वीडियो में यह शख्स खुद भी ऐसे ही इशारे कर रहा है। इस वीडियो में वह यह कहता हुआ दिखाई दे रहा है – “कोरोना जैसी बीमारी का कोई इलाज नहीं है क्योंकि यह अल्लाह का अजाब है, आप लोगों के लिए।”