पापा फिलिपिंस में तो सड़क पर देखते ही गोली मार देने का है आदेश

झूंसी पापा मैं बिल्कुल ठीक हूं। यहां फिलिपिंस में भी कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लाक डाउन चल रहा है। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यहां की सरकार बहुत सख्त है। सड़क पर बेवजह निकलने वालों को देखते ही गोली मार देने का आदेश सरकार ने दे रखा है। लोगों को खाद सामग्री व अन्य सुविधाएं घर-घर पहुंचाई जा रही है।
झूंसी के आवास विकास कालोनी योजना तीन निवासी प्रदीप अग्रवाल फार्मासिस्ट हैं। उनकी झूंसी में मेडिकल शॉप है। प्रदीप की बेटी पलक अग्रवाल फिलिपिंस से एमबीबीएस कर रही है। वह इस साल एमबीबीएस के फाइनल वर्ष में अध्ययनरत है। चीन के बुहान से शुरू हुए कोरोना वायरस ने एशिया और यूरोप समेत तकरीबन सवा सौ देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। फिलिपिंस में भी कोरोना वायरस का संक्रमण दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए वहां भी पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है। ऐसे में कई हजार किलोमीटर दूर प्रयागराज के झूंसी इलाके में बैठे परिजनों में पलक को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं। पलक फिलिपिंस के बीकोल प्रदेश के लेजपी शहर के मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस कर रही है। शायद यही वजह है कि मां-बाप दिनभर में कई दफे बेटी से वीडियो कॉल कर बात कर रहे हैं।

फोन पर पिता प्रदीप पूछते हैं बेटी पलक कैसी हो, वहां सब ठीक है न। बेटी कहती है हां पापा मैं बिल्कुल ठीक हूं। मम्मी कैसी हैं, भाई ठीक है न पापा। मैं अपना ख्याल यहां रख रही हूं। आप लोग भी अपना पूरा ख्याल रखिए। इस दौरान बेटी पलक ने पिता को बताया कि यहां भी कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है। सरकार ने सड़क पर बेवजह घूमने वाले लोगों को देखते ही गोली मार देने के आदेश दे रखे हैं। पलक के साथ दिल्ली की मीनाक्षी, यूपी और गुजरात की मीतू समेत अन्य युवतियां भी फिलिपिंस के इसी कॉलेज से एमबीबीएस कर रही हैं। सभी केपरिवार अपनी बेटियों को लेकर चिंतित हैं।