लॉकडाउन का असर : बैंकों में लग गए मेले, खाताधारको की उमड़ गई भीड़

कोरोना वायरस के प्रकोप में अब लोगो के पास धीरे-धीरे नकद राशि खत्म होती जा रही है। इसके कारण अधिकांश लोग अब पैसों के लिए बैंक की ओर से रुख कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों को अभी तक सेनेटाइज नहीं किया गया है। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग ने आदेश जारी कर ग्राम ग्राम पंचायत के माध्यम से सेनेटाइज करने के आदेश जिला परिषदों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को दिए थे। लेकिन अभी तक कई ग्राम पंचायत में सेनेटाइज नहीं किया है। इसमें बैकिंग सेक्टर की सबसे बड़ी जिम्मेदारी कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकना है । 
इसके लिए आरबीआई की ओर से गाइडलाइन जारी हो चुकी है। फिर भी बैंक की ओर से इसको लेकर अभी तक तैयारी नहीं की गई है। मार्च माह के अन्तिम दिन होने के कारण शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र में बैंक के बाहर सुबह से ही महिलाओं की भीड़ लगनी शुरू हो गई। किसी भी बैंक के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं हो रही है। इसके कारण कई जगह बैंक संक्रमण फैलने का डर लग रहा है। इसके अलावा कई बैंक में एटीएम और बीसी में भी नियमों को तहत पालना नहीं हो रही है।

शहर के सभी बैंकों में पेंशन, विधवा पेंशन, जन-धन खाते में राशि आने तथा वेतन आने के साथ ही मंगलवार सुबह से ही सभी बैंकों के बाहर महिलाओं व पुरूषो की भीड़ जमा हो गई थी। बैंकों के बाहर लगे गार्ड की ओर से भीड़ को कम करने का किसी तरह का प्रयास नहीं किया गया। इसके अलावा शहर की कई बैंक के बाहर सेनेटाइजर और हैंडवाश की सुविधा नहीं है।