कोरोना से खतरनाक कट्टरपंथी, इजरायल में मजहब बना महामारी की वजह!

कोरोना के खौफ से पूरी दुनिया कांप रही है, लेकिन कुछ जगहों पर कट्टरपंथियों को न तो कोरोना का डर है और न ही पुलिस का. कट्टरपंथियों की एक तस्वीर इजराइल के जेरुशलम से आई, जहां कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार ने सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पलान करने की हिदायत दी है. लेकिन कट्टरपंथी मानने को तैयार नहीं है.
दरअसल इजरायल में यहूदियों को जब प्रार्थना स्थल से जाने से रोका गया तो उन्होंने हंगामा किया. सोशल डिस्टेंसिंग के कानून को धता बताते हुए यहूदी कट्टरपंथी न सिर्फ जत्था बनाकर जमा हो रहे हैं बल्कि पुलिस के रोकने पर उनसे भी उलझ रहे थे. इसी दौरान जब ये कट्टरपंथी पुलिस का घेरा तोड़कर सिनेगॉग में घुसने लगा तो पुलिसकर्मी ने उसे धकेल कर नीचे गिरा दिया.

कट्टरपंथी जब नहीं मानें तो पुलिस उठाकर ले गई

लाख रोकने पर भी जब ये कट्टरपंथी नहीं माने तो पुलिस के जवान इन्हें टांग कर ले गए. बता दें कि कोरोना के खतरे को देखते हुए इजराइल में सभी प्रार्थनाघर बंद करने के आदेश हैं. लेकिन यहां इस नियम का पालन नहीं हो रहा. कई तस्वीरें इजरायल से सामने आ रही है कि जहां लोग सरकार के आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं.

यहूदियों का एक धड़ा धार्मिक कर्मकांड को लेकर हैं कट्टर

बताया जाता है कि इजरायल में रहने वाले यहूदियों का एक धड़ा इतना कट्टर है कि वो अपने धार्मिक संस्कारों को निभाने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है, खतरा चाहे कोरोना का हो या किसी और का. इनके लिए अपने धार्मिक कर्मकांड सबसे ज्यादा अहम है. इसलिए ये लोग इजरायल में अघोषित लॉकडाउन के बावजूद न सिर्फ खुलेआम सड़कों पर निकल रहे हैं बल्कि सार्वजनिक सभाओं में भी धड़ल्ले से शरीक हो रहे हैं..

इन अल्ट्रा ऑर्थोडॉक्स यहूदियों के लिए कोई भी कानून या आदेश अपनी धार्मिक मान्यताओं से ऊपर नहीं, यहां तक कि कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की शवयात्रा पर प्रतिबंध के बावजूद ये मजमा लगाकर अपना कर्मकांड करने से बाज नहीं आ रहे.

बेंजामिन नेतन्याहू ने लोगों को घर रहने की अपील की

वहीं इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू लोगों से लगातार अपील कर रहे हैं कि कोरोना वायरस का प्रकोप ज्यादा है. लोग कम से कम घरों से बाहर निकले. उन्होंने कहा कि हमने ये फैसला लिया है कि जिन इलाकों में कोरोना वायरस का प्रकोप है वहां लोग कम से कम घरों से बाहर निकलें ताकि इस संक्रमण को और फैलने से रोका जा सके.

बता दें कि इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू भी कोरोना से बचने के लिए दो हफ्ते तक आइसोलेशन में रह चुके हैं. हालांकि उनका टेस्ट निगेटिव आया पर उन्हीं के स्वास्थ्य मंत्री याकोव लित्जमैन कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. इजरायल में कोरोना के 8 हजा से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं. जबकि 55 लोगों की मौत हुई है.