स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों की हालत हुई खराब, पुलिस ने किया ऐसा काम

भारत के अन्य राज्यों की मध्यप्रदेश में भी कोरोना वायरस के कई मामले सामने आ रहे है. राज्य में वर्तमान सीएम शिवराज सिंह चौहान कई प्रभावी कदम उठा रहे है. वही, इंदौर के टाटपट्टी बाखल में कोरोना संक्रमितों की जांच करने पहुंची मेडिकल टीम पर हमला करने वाले सात उपद्रवियों को पुलिस ने गुरूवार सुबह गिरफ्तार कर लिया, जबकि 6 आरोपित देर रात पक़़डे गए. आरोपितों में एक हिस्ट्रीशीटर बदमाश है. पकड़े गए आरोपितों की उनके क्षेत्र में ही जमकर पिटाई की गई. 4 आरोपितों पर रासुका के तहत कार्रवाई करते हुए उन्हें रीवा केंद्रीय जेल भेजा जा रहा है. उधर, पुलिस ने हमले में शामिल 15 अन्य को वीडियो फुटेज के आधार पर चिन्हित कर लिया है. आरोपितों के खिलाफ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट तहत भी कार्रवाई की गई है. वहीं छत्रीपुरा और टाटपट्टी बाखल क्षेत्र में शाम को पुलिस ने फ्लैग मार्च किया.
इस कार्यवाही को लेकर एएसपी (पश्चिम) राजेश व्यास के मुताबिक, कोरोना संक्रमितों की जांच करने पहुंचे डॉक्टरों के दल पर बुधवार दोपहर भीड़ ने हमला कर दिया था. उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर मारा और पथराव कर दिया. पुलिस ने एक महिला डॉक्टर की शिकायत पर अज्ञात हमलावरों के विरद्ध केस दर्ज किया और गिरफ्तारी की रूपरेखा बनाई. देर रात वीडियो फुटेज के आधार पर कुछ लोगों की पहचान कर ली गई.

भारत में नहीं रहेगी 'कोरोना' टेस्ट किट की कमी, जाने क्यों
कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सुबह करीब 10 बजे उनके घरों के आसपास बल तैनात किया और मोहम्मद मुस्तफा हाजी मोहम्मद इस्माइल, नौशाद अहमद मुश्ताक अहमद कादरी, मोहम्मद गुलरेज हाजी अब्दुल गनी, शाहरख खान फिरोज बाबा अंसारी, मुबारिक मोहम्मद इसहाक खान, शोहेब उर्फ शोबी मोहम्मद मुख्तियार और मज्जू उर्फ मजीद अब्दुल गफूर सभी निवासी टाटपट्टी बाखल को गिरफ्तार कर लिया. जबकि देर रात 6 और को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.