सरकार का नया आदेश, लॉकडाउन में अब इन सामानों को भी छूट दे दी गई है

कोरोना वायरस के चलते देश में लॉकडाउन है. इस वजह से जरूरी सेवाओं के अलावा बाकी सबकुछ बंद है. हालांकि सरकार लगातार आदेश जारी कर बता रही है कि कौन-सी सेवाएं जारी रहेंगी. इसी कड़ी में 29 मार्च को सरकार ने नया आदेश जारी किया. इसमें कहा गया कि लॉकडाउन के दौरान अब कुछ अन्य सामानों की आपूर्ति भी की जाएगी.

अब इन सामानों की दी छूट
नए आदेश में साफ-सफाई से जुड़े सामान की सप्लाई को शामिल किया गया है. इनमें हैंडवॉश, साबुन, शैम्पू, डायपर, सैनिटरी नैपकिन, टूथपेस्ट, टूथब्रश, बैटरी सेल और चार्जर जैसी चीजें शामिल हैं.

लॉकडाउन के बाद देश के कई शहरों से दुकानों पर भीड़ की तस्वीरें सामने आई थी.सरकार ने भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी को भी छूट दी. रेड क्रॉस सोसायटी चिकित्सा से जुड़े काम करती है. अखबार बांटे जाने को भी लॉकडाउन से राहत दी गई है. केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने भेज दी है.

लॉकडाउन जारी होने के बाद से सरकार कई बार अपने आदेशों में बदलाव या सुधार कर चुकी है. लगभग हर रोज जरूरी सामान और सुविधाओं की लिस्ट में बदलाव किया जा रहा है. पीएम मोदी के संबोधन के बाद गृह मंत्रालय ने पहली बार आदेश जारी किया था. इसमें कहा गया था कि खाना, मेडिकल, परचून का सामान, फल-सब्जियों, दूध, मांस-मछली और पशुओं के चारे की दुकानें खुली रहेंगी.

जिस दिन लॉकडाउन, उसी दिन शाम में नया आदेश
लेकिन लॉकडाउन के बाद लोगों ने पैनिक बाईंग की. यानी डर के चलते घरों में सामान भरना शुरू कर दिया. इससे दुकानों में सामान खत्म हो गया. साथ ही सप्लाई करने वाले ट्रकों को पुलिस ने रोक दिया. पुलिस ने सब्जी और फलों की दुकानों को भी बंद करा दिया. डॉक्टरों को एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने से रोक दिया गया. ऑनलाइन सामान डिलीवरी करने वाली कंपनियों के स्टाफ को पीटे जाने की खबरें आईं.

लॉकडाउन में जरूरी सेवाओं जैसे मेडिकल, किराना स्टोर, डेयरी, फल-सब्जियों की दुकानों को खोलने की अनुमति है. यहां पर भी लोगों को एक मीटर के अंतर पर खड़ा रखना जरूरी है.ऐसे में 25 मार्च की शाम को सरकार ने नया आदेश जारी किया. इसमें डॉक्टरों, ऑनलाइन डिलीवरी स्टाफ को आने-जाने देने को कहा गया. साथ ही फल-सब्जियों की दुकानों को खोलने का आदेश फिर से दिया. कंपनियों से प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड को नौकरी पर बनाए रखने को कहा गया.

26 मार्च को सरकार ने फिर से आदेश दिया. इसमें जानवरों के चारे और खाने की दुकानों को खोलने देने का जिक्र था, क्योंकि कई राज्यों में इस तरह की दुकानों को बंद कर दिया गया था.

27 मार्च को खेती को दी छूट 
27 मार्च को सरकार ने खेती से जुड़े सामान और सेवाओं को राहत देने का आदेश दिया. इसमें कहा गया कि लॉकडाउन के दौरान खेती का काम किया जा सकता है. खेती में फसल काटने और बोने वाली मशीनों के आने-जाने को भी अनुमति दी गई है. साथ ही खाद, बीज बनाने वाली कंपनियां भी काम कर सकेंगी.