मुस्लिम समुदाय के दो लोगों ने लगाया फंदा

ऊना-देश भर में तबलीगी जमातियों के खिलाफ पनप रहे रोष के बीच ऊना जिला के तहत बनगढ़ में मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। युवक की पहचान दिलशाद मोहम्मद (36) पुत्र दिलबाग निवासी बनगढ़ के तौर पर हुई है। आत्महत्या करने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया पता है, लेकिन पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार दिलशाद मोहम्मद उर्फ॒विपिन॒चिकन की दुकान करता था। दिलशाद के जमातियों के संपर्क में आने के कारण॒स्वास्थ्य विभाग ने दिलशाद॒का॒कोरोना॒टेस्ट भी करवाया था। 
रिपोर्ट नेगटिव आने के बाद शनिवार को पुलिस दिलशाद मोहम्मद को घर छोड़ गई और उसे होम क्वारंटाइन रहने के निर्देश दिए गए थे। शनिवार को रोजाना की तरह दिलशाद॒नमाज पढ़ने के बाद अपने कमरे में चला गया, लेकिन रविवार सुबह परिजनों ने दिलशाद मोहम्मद का शव बाथरूम में लटका देखा। दिलशाद ने घर के पीछे बने बाथरूम में चुनरी के साथ फंदा लगाया था। बताया जा रहा है कि युवक ने सुबह के समय ही आत्महत्या की है। आत्महत्या मामले की सूचना मिलने पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची। 

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। गौर हो कि एक ओर जहां कोरोना वायरस की दहशत फैली हुई है, वहीं मुस्लिम समुदाय से संबंधित तबलीगी जमात के लोगों की कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। साथ ही में अब इसी बीच ऊना जिला के बनगढ़ मे मुस्लिम युवक की आत्महत्या मामले से सनसनी का माहौल बन गया है। पुलिस इस जांच में जुटी है कि आखिर इस युवक ने आत्महत्या क्यों की। उधर, एसएचओ ऊना दर्शन ठाकुर ने कहा कि बनगढ़ में एक मुस्लिम युवक द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। एसएचओ ने माना कि दिलशाद मोहम्मद का कोरोना टेस्ट करवाया गया था, लेकिन रिपोर्ट नेगटिव आई थी।