भाई को बचाने के चक्कर में गई भाई की जान

राजधानी ,लखनऊ में कोरोना के साइड इफ़ेक्ट में मौत का मामला सामने आया हैं। जहा एक पत्नी से झगड़े के बाद युवक झील में कूद कर अपनी जान दे दी तो वही अपने भाई को बचाने के लिए झील में कूदे छोटे भाई की भी झील में डूबने से मौत हो गयी। दोनों के शव को निकालने के बाद पुलिस ने इसे पत्नी विवाद के बाद मौत का कारण बताया है।
लखनऊ में लॉकडाउन के वक्त एक ऐसा मामला सामने आया जो लोगो के होश उड़ा देगा। दरअसल चिनहट थाना क्षेत्र के कठौता झील में छुट-पुट घटनाओं के बीच पत्नी से विवाद के बाद एक युवक को इतना गुस्सा आया के उसने घर के पास सटी झील से कूद कर जान दे दी। कूदने से पहले 26 वर्षीय अविनाश यादव ने अपनी पत्नी नीलम को आखिरी फोन किया और खुदखुशी की बात कही। घबराई नीलम ने इस बात की जानकारी अपने देवर तेज़ कुमार कुमार को दी।

24 वर्षीय तेज़ कुमार अपने भाई अविनाश को बचाने के लिए कठौता झील की तरफ दौड़ा लेकिन तब तक अविनाश झील में कूद चुका था। .अपने भाई को बचाने के लिए तेज़ कुमार भी उसी झील में कूद गया। लेकिन अफ़सोस की बात ये थी के गहरी झील तैरने का तजुर्बा न तो अविनाश को था और ना हीं तेज़ कुमार को लिहाज़ा दोनों उस गहरी झील में डूबकर मौत की नींद सो गए।सूचना पाकर मौके पर पहुंची चिनहट पुलिस ने गोताखोरों की मदद से दोनों के शवों को बाहर निकलवाया। .. और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। 

घर में दो सागे भाइयो की मौत की खबर फैलते ही कोहराम मच गया। घर के सभी लोग और आसपास के लोग कठौता झील की तरफ दौड़े लिहाज़ा पुलिस के अफसर भी मौके-मुआइना करने पहुंचे। एसीपी के साथ एडिशिनल डीसीपी और दो थानों की सीमावर्ती पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस अफसरों के मुताबिक दोनों की मौत हो चुकी है और मौत के पीछे पत्नी विवाद बताया जा रहा है। और दुसरे भाई की मौत उसको बचाने की वजह।