लॉकडाउन : जड़ी-बूटी बेचनेवाले उप्र के तीन परिवारों की बढ़ी मुश्किलें!

देशव्यापी लॉकडाउन में फंसे उत्तर प्रदेश के तीन परिवारों के समक्ष इन दिनों रोजी-रोटी की समस्या उत्पन्न हो गई है। पथरगामा के गांधीग्राम में जड़ी-बूटी बेचनेवाले इन तीन परिवार के दर्जनों सदस्य दो दिनों से भूखे थे। सोमवार को इसकी सूचना मिलने पर जिला परिषद सदस्य पूनम देवी ने सभी को राहत सामग्री दी और इसकी सूचना उपायुक्त को दी।
लालजी मुर्मू हाई स्कूल के समीप टेंट बनाकर रह रहे उत्तर प्रदेश के निवासी सूरज सिंह, चिल्लू सिंह और जमुना सिंह अपने परिवार के साथ घूम घूम कर जड़ी बूटी बेचने का काम करते थे। लॉक डाउन की वजह से इनके परिवार के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई। सूरज सिंह ने बताया कि वे सभी परिजनों के साथ प्रतिदिन जड़ी-बूटी बेचकर भरण पोषण करते थे। 

अचानक लॉक डाउन हो जाने से भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। जिप सदस्य ने सबों को चावल, आलू, बैगन, टमाटर, तेल और नमक के लिए ?500 नकद भी दिए। उनके साथ आए छोटे बच्चे को बिस्कुट के पैकेज भी दिए गए। जिप सदस्य ने इसकी सूचना उपायुक्त को दी तो डीसी ने इन परिवारों को रैन बसेरा में भेजने का निर्देश दिया है। रैन बसेरा में खाने-पीने और रहने की व्यवस्था की गई है।