ये हैं देश की सबसे खतरनाक युवा एसडीएम, माफिया और गुंडे खौफ खाते हैं इनसे

आज हम आपको एक ऐसी एसडीएम से मिलाते हैं जिनसे गुंडे और माफिया खौफ खाते हैं। यह महिला अधिकारी नई नई एसडीएम बनी है लेकिन इसके काम के कारण इन्हें इलाके में मर्दानी या रानी लक्ष्मी बाई के नाम से जाना जाने लगा है।
हम बात कर रहे हैं मप्र के गुना में पदस्थ युवा उप जिलाधिकारी (सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट) शिवानी गर्ग की, इन्होंने मिलावटखोरों के खिलाफ ‘शुद्ध के लिए युद्ध’ और अतिक्रमणकारियों के खिलाफ ‘एंटी माफिया’ अभियान छेड़ा हुआ है। इनके काम से गुना की जनता बेहद खुश है और लोकप्रिय हो चली इस महिला अधिकारी को ‘मर्दानी’ और ‘भवानी’ बता रही है।
मप्र के सागर जिले में पली-बढ़ीं शिवानी के पिता राजेश रायकवार लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) में अकाउंटेंट हैं और मां कमला रायकवार स्वास्थ्य विभाग में सुपरवाइजर, पति अंशुल गर्ग जेल उपअधीक्षक हैं। 
माफियाओं से सरकारी जमीन को खाली कराने की मुहिम के दौरान लोगों ने शिवानी को जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर चलाकर जमीन में बने हुए अवैध निर्माण को तोड़ते हुए भी देखा, कुल मिलाकर गुना के पूरे इलाके में इस तेजतर्रार अधिकारी की काफी तारीफ हो रही है।