कोरोना वायरस के कारण यहां के लोगों ने मुंडवा लिया सिर, जानिए इसका वजह!

राजस्थान में कोरोना वायरस पॉजिटिव के मामले दिनोंदिन बढ़ते जा रहे हैं। बुधवार को अकेले जयपुर के रामगंज में 13 नए पॉजिटिव केस मिले हैं। इनके साथ ही पूरे राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 106 हो गया है। चिकित्सकों की टीमें अस्पतालों में 24 घंटे काम में जुटी हैं। वहीं, राजस्थान के सीकर जिले में प्रशासन पर कोरोना वायरस को गंभीरता से नहीं लेने के आरोप लगे हैं। लोगों ने सिर मुंडवा कर प्रशासन का विरोध जताया है।
जानकारी के अनुसार सीकर जिले के बाटड़ानाउ गांव में एक युवक में कोरोना के संदिग्ध लक्षण पाए गए थे। इसकी जानकारी ग्रामीणों ने सीकर जिला प्रशासन को दी। प्रशासन ने सात कर्मचारियों को गांव में लगाया है, मगर उनमें से कोई कर्मचारी गांव नहीं पहुंचा और ना फिर प्रशासन ने कोई ठोस कदम उठाया। कोरोना जैसी महामारी के बीच प्रशासन की इस कथित लापरवाही से लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और सीकर भाजपा के प्रदेश महामंत्री मनोज बाटड़ के नेतृत्व में गांव के 1 दर्जन से अधिक लोगों  ने मुंडन करवाकर अपना विरोध जताया। मनोज बाटड़ ने बताया कि गांव में एक युवक के कोरोना संदिग्ध पाए जाने की सूचना जिला प्रशासन को बार-बार दी गई, लेकिन प्रशासन कोई ठोस कार्यवाही नहीं कर रहा।

सात कर्मचारियों को यहां ड्यूटी पर लगाया था। वे भी गांव में नहीं आ रहे हैं। इसके चलते गांव में चिकित्सा व्यवस्था राम भरोसे है। 24 मार्च की रात 12 बजे से ही गांव में लॉकडाउन की पूरी पालना की जा रही है। फिर भी प्रशासन से गांव वालों को इस मुश्किल घड़ी में जिन चिकित्सकीय सुविधाओं की उम्मीद है। वे गांव वालों को मुहैया नहीं हो पा रही है। इससे लोगों में प्रशासन के प्रति नाराजगी है। प्रशासन द्वारा गांव की उपेक्षा किए जाने पर सिर मुंडवाकर विरोध जताया गया है।