फल देने से पहले तराजू में थूक दिया, और फिर दिए केले, ठेले वाला हुआ गिरफ्तार

कोरोना संकट के बीच देश में फलों पर थूक लगाने और घरों में थूकने के कई अजीब मामले सामने आ चुके हैं। राजस्थान में तो सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर प्रतिबंध ही लगा रखा है। थूक लगाकर फल देने की घटना अब राजस्थान के भरतपुर जिले में सामने आई है। सीसीटीवी कैमरे में पूरा वाक्या रिकॉर्ड हो गया है, जिसके आधार पर एक ग्राहक ने पुलिस थाने में शिकायत की है। पुलिस ने पिता पुत्र के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।
मथुरा गेट थाना प्रभारी राजेंद्र शर्मा के अनुसार मामला भरतपुर के मथुरा गेट थाना इलाके में गोपालगढ़ मोहल्ला में सुजान गंगा नहर के सामने का है। यहां सड़क किनारे बीएसएफ के रिटायर्ड इंस्पेक्टर मुकेश सिनसिनवार का घर है। मुकेश सिनसिनवार ने रिपोर्ट दी है कि शुक्रवार को सुजान गंगा नहर क्षेत्र में एक ठेले वाला फल बेचने आया था। 
उसकी आवाज सुनकर वे बाहर आए और उससे 20 रुपए के हिसाब से दो किलो केले खरीदे। उसने यह कहते हुए कि पॉलीथीन नहीं है, केले हाथ में ही पकड़ा दिए। घर आने पर उन्हें हाथ में किसी तरल चीज महसूस हुई। इस पर मुकेश को कुछ शंका हुई तो उन्होंने अपने घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाले। फुटेज देख उनके होश उड़ गए। 
सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हुआ कि फल विक्रेता के बेटे ने वो केले तौलने से पहले तराजू में थूका था। सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद मुकेश तुरंत घर से बाहर निकले और ठेले वाले का पीछा किया। उससे आधार कार्ड देखा, जिसके आधार पर उनकी पहचान गोपालगढ़ के चाँद मोहम्मद व उसके पुत्र नासिर के रूप में हुई है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।