पुलिस अंकल! इन पैसों से बनवाओ कोरोना वायरस की दवा" अपना गुल्लक लेकर थाने पहुँचा लड़का

दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस ने हिंदुस्तान में भी अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है। देश मे कोरोना से पीड़ित लोगों की संख्या डेढ़ हजार के आंकड़े को पार कर गई है। कोरोना को हराने के लिए हर कोई तैयार है, मगर भारत में चिकित्सा की सुविधा पर्याप्त नहीं होने और आगे की किसी भी परिस्थितियों के निपटने के लिए पीएम मोद द्वारा बनाए गए प्रधानमंत्री राहत कोष में देश के उद्यमी से लेकर बॉलीवुड अभिनेता और क्रिकेट खिलाड़ी तक करोड़ों का दान देकर देश को कोरोना से लड़ने को मजबूती प्रदान कर रहे हैं। इसी कड़ी में छोटे-छोटे बच्चे भी आगे आकर अपनी गुल्लक तक राहत कोष में दे रहे हैं।
जनपद मुजफ्फरनगर में थाना खतौली क्षेत्र के एक 7 वर्षीय समयंत जैन ने अपने पिता के साथ खतौली थाना कार्यालय पहुंच कर अपनी गुल्लक में जमा की है। दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले समयन्त जैन ने थाना खतौली में अपनी गुल्लक को कोरोना राहत कोष में देते हुए कहा कि मैं गुल्लक में जमा किए पैसे प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करा रहा हूं, ताकि इससे कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाई जा सके और लोगों को मरने से बचाया जा सके। इस पर थाना प्रभारी ने बच्चे की सराहना करते हुए कहा कि अगर इसी तरह अन्य लोग भी सामने आएंगे तो वह दिन दूर नहीं जब देश से कोरोना वायरस खत्म होगा।