"हे राम..भीषण आग में खाक हो गए जुड़वा मासूम बेटे" लॉकडाउन के समय ऐसी घटना!

राणापुर जिले के कल्याणपुरा में रविवार को सुबह एक झोपड़ी में आग लगने से जुड़वा मासूमों की दर्दनाक मौत हो गई। अचानक लगी में आग में बच्चों की मां तो बच गई लेकिन दोनों बच्चे भीषण आग में घिर गए। आग ने विकराल रूप ले लिया, उनके बचाने की कोशिश में एक युवक भी झुलस गया लेकिन बच्चे मौके पर ही जलकर खाक हो गए। बाद में फायर ब्रिगेड की गाडिय़ों से आग पर काबू पाया गया।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि आग इतनी भयानक थी कि देखते -देखते पूरे घर खाक हो गया। फायर ब्रिगेड और पानी के टैंकर से आग बुझाने की कोशिश की गई, लेकिन तब तक घर सबकुछ राख के ढेर में बदल चुका था। घटना कल्याणपुरा के खेड़ा गांव में सुबह करीब साढ़े 8 बजे के आसपास हुई। घटना के दौरान मकान मालिक तोलसिंह और अन्य सदस्य घर के बाहर थे। तोलसिंह की पत्नी घर के अंदर काम कर रही थी। वहीं उनके 14 माह के दो जुड़वा बच्चे घर में सो रहे थे। अचानक लगी आग की लपटें इतनी तेज थी कि महिला तो जैसे तैसे घर के बाहर निकल गई, लेकिन वह अपने बच्चों को बाहर नहीं निकाल पाई। 

थोड़ी ही देर में आग ने अपना विकराल रूप ले लिया और तोलसिंह के बेटे जुड़वा बच्चे प्रेम और सागर उसकी चपेट में आ गए। दोनों जलकर खाक हो गए। घटना में तोलसिंह का भाई संवरसिंह भी झुलस गया, उसे सामुदायक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती किया गया है। घटना के बाद परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। सूचना मिलने तहसीलदार प्रवीण ओहरिया व नायब तहसीलदार हर्षल बेहरामी और कल्याणपुरा पुलिस पहुंची। मौका मुआयना कर पंचनामा बनाया गया, ओहरिया ने बताया कि परिवार को आर्थिक सहायता देने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है।