इंदौर में डॉक्‍टरों पर पथराव का मामला, आगे आए ज्योतिरादित्य, CM से कर दी ये मांग...

ज्योतिरादित्य ने कहा कि दिन रात लोगों की सेवा में लगे स्वास्‍थ्य कर्मियों के साथ ऐसी वारदात निंदनीय है.
इंदौर में कोरोना (corona) के संदिग्ध मरीज की स्क्रीनिंग करने पहुंची टीम पर इलाके के लोगों ने पथराव कर दिया. जानकारी के अनुसार टाट पट्टी बाखल इलाके में ये टीम जांच के लिए गई थी. टीम के पहुंचते ही लोगों ने उस पर पथराव और विरोध शुरू कर दिया. पूरे इलाके में उस दौरान जमकर हंगामा हुआ. तनाव को देखते हुए बड़ी तादाद में पुलिस बल (police force) तैनात किया गया. इस मामले में बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अब सीएम शिवराज सिंह चौहान से निवेदन करते हुए स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा का मुद्दा उठाया है. साथ ही उन्होंने दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के लिए भी कहा है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि इंदौर में कोरोना की जांच के लिए गए डॉक्टरों के दल पर पथराव की खबर दुखद एवं निंदनीय है. हमारे देश और प्रदेश के सभी डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मी अपनी जान की परवाह किए बिना, परिवार से दूर रहकर नागरिकों की देखभाल और सेवा में लगे हुए हैं. उनके साथ इस तरह की घटना अक्षम्य है.

इंदौर में कोरोना की जांच के लिए गए डॉक्टरों के दल पर पथराव की खबर दुखद एवं निंदनीय है। हमारे देश और प्रदेश के सभी डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मी अपनी जान की परवाह किए बिना, परिवार से दूर रहकर नागरिकों की देखभाल और सेवा में लगे हुए हैं। उनके साथ इस तरह की घटना अक्षम्य है। #Indore

वहीं अपने एक और ट्वीट में उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान से अनुरोध करते हुए कहा कि मानव सेवा के कार्य में लगे ऐसे सभी डॉक्टर्स अन्य सहयोगियों को पूरी सुरक्षा प्रदान की जाए. साथ समाज और मानवता से खिलवाड़ करने वाले दोषियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाए.

स्क्रीनिंग के लिए गई थी टीम

टाट पट्टी बाखल इलाके में बीते दिनों एक शख्स की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी. उसके संपर्क में जो लोग भी आए स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी स्क्रीनिंग के लिए गई थी, लेकिन सहयोग तो दूर लोगों ने स्वास्‍थ्य विभाग की टीम का विरोध करना शुरू कर दिया. इसके बाद भीड़ गुस्सा गई और टीम के साथ मारपीट और पथराव शुरू कर दिया. गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए इस इलाके को सील किया गया था और सुरक्षा के लिए बेरिकेडिंग भी की गई थी जिसे गुस्साई भीड़ ने तोड़ दिया.