लॉकडाउन में फंसे विदेशी नागरिक, DM ने किया उनसे मुलाकात!

कोरोना कहर को देखते हुए प्रधानमंत्री ने देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषण की है। ऐसे में रेल, बस,हवाई सेवा पूरी तरह से बंद है। जो व्यक्ति जहां पर हैं वह वहीं पर फंस गया है। ऐसे में कुछ विदेशी नागरिक भी देश में फंस गए है। सरकार  सभी फंसे लोगों को जरूरत की खाद्यान्न सामग्री वितरित करा रही है।
वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों को रोजमर्रा के खाद्यान्न सामग्री एवं वितरित करा रहे है। भोजन की गुणवता एवं उसकी पैकेजिंग अच्छे स्तर की किए जाने पर जोर दिया है। उन्होंने सोमवार को जालान्स दुर्गाकुंड जाकर तैयार कराये जा रहे भोजन की प्रक्रिया देखी।

शर्मा ने सोमवार को विभिन्न गेस्ट हाउसों में निरीक्षण कर वहां रूके कनाडा, जर्मनी, स्वीटजरलैण्ड के विदेशियों से मुलाकात की। उन्होंने अस्सी घाट के पास गणेश शंकर मिश्रा गेस्ट हाउस व मुश्ताक हास्टल का निरीक्षण कर वहां विभिन्न देशों कनाडा, जर्मनी, स्वीटजरलैण्ड से आकर रूकने वाले पर्यटकों से पूछताछ की। गणेश शंकर मिश्रा गेस्ट हाउस में कुल 5 विदेशी नागरिक मिले।

निरीक्षण के दौरान अस्सी घाट के किनारे स्थित मुश्ताक हास्टल में विदेशी नागरिकों से उन्होंने कहा कि कोई भी समस्या हो तो तत्काल बताएं उसका समाधान किया जायेगा। अपने देश लौटने को लेकर विदेशी नागरिकों ने DM से जानकारी प्राप्त की। DM ने बताया कि विदेश मंत्रालय से जो भी अनुमति मिलेगी उसी के अनुसार यहां से विदेशी नागरिकों को भेज दिया जाएगा।