एक ही दिन में तीन राज्यों में आया भूकंप का झटका, लद्दाख में तीव्रता 4.5 था!

कोरोना संकट के बीच देश भर के अलग-अलग हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किये जा रहे हैं. शुक्रवार की दोपहर हरियाणा के रोहतक और उसके आसपास के इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किये गए, वहीं शाम को लद्दाख और मेघालय में भी भूकंप के झटके महसूस किये गए.
लद्दाख में देर शाम 8 बजकर 15 मिनट पर 4.5 तीव्रता के साथ भूकंप के झटके महसूस किये गए. राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान (एनसीएस) केंद्र ने बताया कि भूकंप रात सवा आठ बजे आया. जिसका केन्द्र 25 किलोमीटर की गहराई में था. भूकंप की वजह से किसी भी तरह की क्षति की सूचना नहीं है. मौसम विभाग ने बताया कि भूकंप का केंद्र लद्दाख था और भूकंप के झटके कश्मीर घाटी के ज्यादातर हिस्सों और जम्मू के किश्तवार और डोडा तक महसूस किए गए. हिमालयी क्षेत्र भूकंप के लिहाज से बहुत संवेदनशील है.
इसके पहले शुक्रवार शाम को मेघालय के तुरा से 79 किमी दूर पश्चिम में 3.3 रिक्टर स्केल की तीव्रता के साथ भूकंप आया. वहीं, दोपहर 3 बजकर 32 मिनट पर हरियाणा के रोहतक और उसके आसपास के इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किये गये. हरियाणा में भूकंप की तीव्रता 2.8 रिक्टर स्केल रही. भूकंप का केंद्र रोहतक में जमीन से 9 किमी अंदर रहा. भूकंप की तीव्रता ज्यादा न होने के कारण लोगों को कम झटके महसूस हुए. इसके पहले रोहतक में 24 जून को 2.8 तीव्रता से भूकंप के झटके महसूस किये जा चुके हैं. इसके अलावा बुधवार को मिजोरम के चमफाई जिले में भूकंप के झटके महसूस किये गए थे.

कोरोना काल में कई बार कांपी धरती

कोरोना काल में भूकंप के कारण कई बार धरती हिल चुकी है. 21 जून को मिजोरम, असम, मेघालय और मणिपुर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. इसके अलावा 15 जून को गुजरात तो 14 जून को कच्छ में 5.5 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया.