खूबसूरती बनी लड़की की मौत की वजह, पहले बाल-भौंह काटे, 5 दिन भूखा रखा, फिर शरीर पर दिए 33 जख्म!

यह चौंकाने वाला मामला आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम का है। पुलिस ने इस मामले में 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने जांच के बाद बताया कि लड़की की हत्या जबरन देह व्यापार में धकेलने का विरोध करने की वजह से की गई है।
पुलिस ने बताया कि मकान मालकिन गुताला वसंता लड़की को देह व्यापार में धकेलना चाहती थी। उसने पहले लड़की को टॉर्चर किया। फिर उसकी हत्या कर दी।
पुलिस को गुरुवार को 22 साल की एक लड़की का शव मिला था। पुलिस को यह जानकारी उस वक्त मिली थी, जब आरोपी लड़की का अंतिम संस्कार कर रहे थे। जब मकान मालकिन से पुलिस ने लड़की के शव के बारे में पूछा तो उसने बताया कि मौत बीमारी की वजह से हुई है। लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर पर 33 जख्म मिले।
इतना ही नहीं दिव्या के शरीर को जलती हुई लकड़ी से दागा गया था। उसके बाल काटे गए। उसके आईब्रो भी शेव कर दिए गए। लड़की को 5 दिन तक भूखा प्यासा रखा गया। इस वजह से उसकी मौत हो गई। मकान मालकिन लड़की के शव को साथियों के साथ मिलकर ठिकाने लगाना चाहती थी। इसलिए उसने शव को फूलों से ढक्कर रात में ही अंतिम संस्कार करने के बारे में सोचा। लेकिन जिस गाड़ी से वह शव को ले जा रही थी, उसके ड्राइवर को जब मामला संदिग्ध लगा तो उसने पुलिस को यह जानकारी दी।
पुलिस के मुताबिक, मालकिन लड़की की खूबसूरती से जलती थी और उसे देहव्यापार में धकेलना चाहती थी। इतना ही नहीं पुलिस ने बताया कि 2015 में लड़की की मां, भाई और दादी की कुछ लोगों ने हत्या कर दी थी। इस मामले में अभी जांच चल रही है।
विशाखापट्टनम एक 22 साल की लड़की के लिए उसकी खूबसूरती ही परेशानी की वजह बन गई। जिस मकान में वह लड़की रहती थी, उसका मकान मालकिन उसे जबरन देह व्यापार में धकेलने की कोशिश में लगातार टॉर्चर कर रही थी। इतना ही नहीं जब लड़की तैयार नहीं हुई तो उससे मारपीट की गई। पहले उसके बाल काटे फिर आईब्रो। इसके बाद उसके शरीर पर 33 जगह जख्म दिए गए। इतना ही नहीं लड़की को 5 दिन तक भूखा प्यासा रखा गया। आखिर में उसकी मौत हो गई। मकान मालकिन ने लड़की के शव को ठिकाने लगाने की कोशिश भी की, लेकिन उसका राज किसी तरह से खुल गया।