आईटीबीपी ने मात्र 96 घंटे में तैयार किया 10 हजार बिस्तरों वाला कोविड केयर सेंटर, 1 हजार मेडिकल स्टाफ तैनात!

आइटीबीपी की मेडिकल टीम ने नई दिल्ली के राधास्वामी व्यास छतरपुर में 10,000 से भी ज्यादा बिस्तरों वाले कोविड केयर सेंटर को 96 घंटे से भी कम समय में तैयार कर दिया है। अब यहां पर कोरोना संक्रमित लोग आ सकते हैं।
शुक्रवार को आईटीबीपी के डीजी एसएस देसवाल ने सबसे बड़े कोविड केयर सेंटर की मेडिकल टीम की तैयारियों का जायजा लिया। आईटीबीपी को इस विशालतम कोविड केयर सेंटर के संचालन की नोडल एजेंसी बनाया गया है। डीजी ने डॉक्टरों और प्रशासकों की टीम से बातचीत कर उनकी हौसला अफजाई की।
 
इस केंद्र में 10,200 से भी ज्यादा बेड उपलब्ध होंगे। इनमें 90 फीसदी बिस्तर उन लोगों के लिए निर्धारित होंगे, जो कोविड19 के संक्रमण से मामूली तौर पर संक्रमित होंगे। 10 फीसदी बिस्तर ऑक्सीजन आधारित होंगे। इन्हें ऑपरेट करने के लिए विशेष डॉक्टरों की टीम मौजूद रहेगी। मरीजों के लिए कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार डॉक्टरों और मेडिकल टीम को समानुपातिक तौर पर तैनात किया गया है।
अब तक का यह सबसे बड़ा सेंटर होगा, जिसमें लगभग 1,000 से भी ज्यादा चिकित्सकों और पैरामेडिकल व नर्सिंग स्टाफ की टीमें काम करेंगी। चूंकि यह कोविड केयर सेंटर बहुत बड़े इलाके में फैला हुआ है, इसलिए यहां की सुरक्षा व्यवस्था के लिए आइटीबीपी ने विशेष इंतजाम किया है। डीजी देसवाल ने कहा, आईटीबीपी ने रिकॉर्ड समय में अपने चिकित्सा दलों को यहां तैनात कर दिया है। लगभग 4 दिनों से आईटीबीपी के अनुभवी डॉक्टरों और प्रशासकों की टीम इस केंद्र में युद्ध स्तर पर तैयारियां कर रही थी।
विदित हो कि इस केंद्र में कोविड केयर संचालन के लिए आइटीबीपी के वरिष्ठ अधिकारियों ने लगभग दो माह पूर्व ही संबंधित अधिकारियों के साथ मंथन प्रारंभ कर दिया था। इस केंद्र में मेडिकल की व्यवस्थाओं के लिए आइटीबीपी को इसलिए चुना गया है, क्योंकि बल को कोरोना प्रसार के प्रारंभिक दिनों से ही इसके प्रबंधन का विशिष्ट अनुभव है।
आईटीबीपी ने जनवरी के अंतिम सप्ताह में देश का प्रथम और विशालतम क्वारंटीन केंद्र नई दिल्ली के छावला में स्थापित किया था। इस सेंटर पर चीन के वुहान तथा इटली से लाए गए एक हजार से ज्यादा लोगों की देखरेख की थी। इस बल के डॉक्टर्स को सीएपीएफ रेफरल हॉस्पिटल, ग्रेटर नोएडा में सैकड़ों कोरोना संक्रमित केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और उनके परिवाजनों के इलाज का विशेष अनुभव भी प्राप्त है।
दिल्ली सरकार ने यहां अन्य मूलभूत आवश्यकताओं की व्यवस्था की है। राधा स्वामी आश्रम ने इस केंद्र में सभी को खाने और रहने आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। इस पूरी प्रक्रिया में कई संगठनों के लोग शामिल हैं। गृह मंत्रालय ने मेडिकल टीम को 26 जून से यह केंद्र ऑपरेट करने के निर्देश दिए थे, जिसे आईटीबीपी ने तय समय पर पूरा दिया है।