पेट्रोल-डीजल के बढ़ती कीमतों पर कांग्रेस का प्रदर्शन, हिरासत में लिए गए कई कार्यकर्ता!

पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर देश व्यापी आंदोलन के तहत कठुआ में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। वहीं प्रदर्शन में शामिल होने के लिए कठुआ आ रहे कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मनोहर लाल शर्मा को हिरासत में लेने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रोष जताया। सोमवार को पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला सचिवालय के समक्ष जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान बोलते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पंकज डोगरा ने कहा कि केंद्र सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार इजाफा कर रही है।
जिससे आम लोगों पर बेवजह का बोझ बढ़ता जा रहा है। कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार कीमतों पर अंकुश लगाने में विफल साबित हो रही है। और कांग्रेस के शांतिपूर्ण विरोध को दबाने की कोशिशकर लोकतंत्र को दबाने का प्रयास कर रही है। कहा कि कांग्रेस जिलाध्यक्ष मनोहर लाल शर्मा को प्रदर्शन में शामिल होने से रोकने के लिए हिरासत में लेना लोगों की आवाज को दबाने का प्रयास है। कहा कि भाजपा अपनी कमियों को छिपाने के लिए इस प्रकार का व्यवहार कर रही है।
डोगरा ने चेतावनी देते हुए कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी न होने तक कांग्रेस का धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। कांग्रेस की युवा नेता खुशबू भगत ने डॉ मनोहर लाल को हिरासत में लिए जाने को लेकर रोष प्रकट करते हुए कहा कि जनता की आवाज को प्रखर करने के लिए कांग्रेस पार्टी ने आंदोलन का रास्ता अपनाया है। लेकिन भाजपा आंदोलन को दबाने का प्रयास कर रही है। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेता पवन शर्मा, परमजीत सिंह पम्मा, युवा नेता निर्दोष शर्मा, अनिल भारद्वाज, कर्ण सिंह, राजेश शर्मा सहित दर्जनों कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।
वहीं प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए कठुआ आ रहे कांग्रेस जिलाध्यक्ष मनोहर लाल शर्मा को अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं सहित पुलिस ने छलां चौक के पास हिरासत में लेने के बाद जिलाध्यक्ष ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताते हुए कहा कि जनता की आवाज को उठाने से रोकना एक प्रकार से लोकतंत्र की हत्या है। डॉ मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि जिला उपायुक्त की अनुमति के बावजूद उन्हें रोका गया है जो सरासर गलत है। कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार डरी और सहमी हुई है इसीलिए शांतिपूर्वक आंदोलन को रोकने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया जा रहा है।
शर्मा ने यह भी कहा कि इस समय देश आपातकालीन जैसी स्थिति से गुजर रहा है और आए दिन बढ़ रहे डीजल और पेट्रोल के दामों ने लोगों को परेशान करके रखा है। जिला प्रधान ने कहा कि देश के हर जिले में बढ़ रही पेट्रोल और डीजल की कीमतों के लिए कांग्रेस आवाज उठा रही है जिसे सरकार की ओर से दबाया जा रहा है। इजना ही नहीं देश में लगातार बेरोजगारी बढ़ रही है। कहा कि कांग्रेस पेट्रोल-डीजल के दामों में कमी न होने तक विरोध दर्ज करवाती रहेगी और आने वाले दिनों में जिले के घगवाल, रामकोट, हीरानगर, बरनोटी और बिलावर के ब्लॉक में कांग्रेस का धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।
लॉकडाउन के चलते लोगों के जमावड़े पर रोक है। इसके अलावा जिला सचिवालय में आवश्यक बैठक भी थी। जिसके चलते प्रदर्शनकारियों के जमावड़े को रोकनेे लिए कांग्रेस जिलाध्यक्ष को प्रदर्शन में शामिल होने से रोकना पड़ा। प्रदर्शनकारियों को कहा गया था कि विरोध दर्ज करवाने का समय बदलें और बाकायदा अनुमति लेकर प्रदर्शन करें। लेकिन बिना अनुमति के प्रदर्शन करने की कोशिश करने से रोकने के लिए कांग्रेस जिलाध्यक्ष को रोकना पड़ा। जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया।- डॉ. शैलेंद्र मिश्रा, एसएसपी