हमारे जवानों को मारने की चीन की हिम्मत कैसे हुई, चुप क्यों हैं PM-राहुल गांधी ने साधा निशाना!

चीन से भारत को 45 साल बाद एक बार फिर धोखा मिला है। सोमवार देर रात लद्दाख के गलवान घाटी में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर बातचीत करने गई भारत की सेना पर चीनी सैनिकों की हिंसक झड़प हो गई। पत्थरों, लाठियों और धारदार चीजों से हमला किया गया। इस हमले में भारत के कमांडिंग ऑफिसर समेत 20 सैनिक शहीद हो गए। जबकि, चीन के 43 सैनिक हताहत बताए जा रहे हैं। हालांकि, चीन ने यह कबूला नहीं है। इस बीच अमेरिका ने कहा कि वह इस मुद्दे पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। उम्मीद है कि दोनों देश इस मुद्दे का हल शांतिपूर्ण तरीके से निकालेंगे।
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस हिंसक झड़प को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। राहुल ने ट्वीट किया, 'पीएम चुप क्यों हैं? वह क्यों छिप रहे हैं? बस बहुत हुआ। हम जानना चाहते हैं कि क्या हुआ है। चीन की हिम्मत कैसे हुई हमारे सैनिकों को मारने की? उनकी हिम्मत कैसे हुई हमारी जमीन लेने की?'
एक भारतीय अधिकारी के मुताबिक, जिन सैनिकों के पास हथियार नहीं थे, उनकी भी बर्बर हत्या की गई। सरकारी सूत्रों के मुताबिक अब भी कम से कम दो दर्जन जवान अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं। कहा जा रहा है कि अभी मौत की संख्या का आंकड़ा बढ़ सकता है।
                      .
गलवान घाटी में हिंसक झड़प में 18 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू शहीद हो गए हैं। उनके परिवार ने बताया, 'हमें तो पहले यकीन नहीं हो रहा था कि हमारा बेटा शहीद हो गया। बाद में अथॉरिटी ने इसकी जानकारी दी। हमारे बेटे ने देश के लिए अपनी जान दी है। हमें उसपर गर्व है।
 
अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, 'भारत और चीन दोनों देशों ने तनाव को कम करने की इच्छा जताई है। हम वर्तमान स्थिति के शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करते हैं। प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका मौजूदा स्थिति पर बारीकी से नजर बनाए हुए हैं। हम भारत के शहीद 20 जवानों के परिवारों के प्रति संवेदनाएं जाहिर करते हैं।
LAC पर भारत-चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद अमेरिका ने प्रतिक्रिया दी है। अमेरिका ने कहा कि वह हालात पर नजर बनाए हुए हैं। उम्मीद है कि इस मसले का हल शांतिपूर्ण तरीके और आपसी बातचीत से निकाला जाएगा। इस घटना को लेकर उल्टा चीन ने ही भारत पर आरोप लगाए हैं। चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय सैनिक जबरन बॉर्डर पार कर घुस रहे थे, उसी दौरान ये झड़प हुई।
 
चीन के साथ हुई हिंसक झड़प में भारत (India) के कम से कम 20 जवान शहीद हो गए हैं। इस घटना में चीन (China) को भी भारी नुकसान हुआ है और चीन के 43 सैनिक हताहत हो गए हैं। इस बीच आज सुबह से ही LAC के दूसरी तरफ चीनी हेलिकाप्टर देखे जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इन हेलिकॉप्टर को मृ​त और घायल सैनिकों को ले जाने के लिए लाया जा रहा है।