कोरोना पर PM मोदी ने कहा- लॉकडाउन और सरकार के कई कदमों से भारत बेहतर स्थिति में!

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है। भारत में भी कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पांच लाख के करीब पहुंच गया है। वहीं, 15685 लोगों की मौत हो चुकी है। पूरी दुनिया इस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रही है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कोरोना के मामले में भारत कई देशों से बेहतर स्थिति में हैं।

Corona के खिलाफ लड़ाई जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को श्रद्धेय डॉ. जोसेफ मार थोमा मेट्रोपोलिटन की 90वीं जयंती समारोह में कहा कि पूरी दुनिया इन दिनों COVID-19 से लड़ाई लड़ रही है। उन्होंने कहा कि यह एक शारीरिक बीमारी नहीं है। बल्कि, अस्वस्थ जीवन-शैलियों की ओर भी हमारा ध्यान ले जा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश के कोरोना योद्धा काफी मजबूती से इस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। पीएम ने कहा कि जब कोरोना की शुरुआत हुई थी तो कुछ लोगों ने कहा था कि भारत में इस वायरस का गंभीर परिणाम होगा। लेकिन, लॉकडाउन के कारण सरकार और लोगों द्वारा ऐसी लड़ाई गई, जिसके कारण भारत कई देशों से बेहतर स्थिति में हैं। उन्होंने कहा कि पूरा देश मजबूती के साथ इस वायरस से लड़ रहा है।

दो गज की दूरी, अभी जरूरी

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कोरोना मरीजों के ठीक होने की दर भी लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि इस महामारी को लेकर अभी और सावधान रहने की जरूरत है। मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंस मेंटेन करना अभी जरूरी है। पीएम ने कहा कि दो गज की दूरी अभी जरूरी है। भीड़भाड़ वाले इलाकों से अभी बचने की जरूरत है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ समय में सरकार ने अर्थव्यवस्था से संबंधित अल्पकालिक और दीर्घकालिक दोनों मुद्दों पर बात की है। सभी से अनुकूल निर्णय लिया गया है।

'सरकार सबका रख रही ध्यान'

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार विश्वास, लिंग, जाति, पंथ या भाषा के बीच भेदभाव नहीं करती है। हम 130 करोड़ भारतीयों को सशक्त बनाने की इच्छा से निर्देशित हैं और हमारा मार्गदर्शक प्रकाश भारत का संविधान है। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड योजना ला रहे हैं। मध्यम वर्ग के लिए ईज ऑफ लिविंग को बढ़ावा देने के लिए कई पहल की हैं। साथ ही किसानों के लिए एमएसपी में वृद्धि की गई है। साथ ही तय किया गया है कि किसानों को सही मूल्य मिल सके।