अगले हफ्ते से जारी हो सकता है Unlock-2.0 की गाइडलाइन, इंटरनेशनल फ्लाइट्स और मेट्रो पर रहेगा फोकस!

कोरोना वायरस महामारी के कारण देश में 25 मार्च से लेकर 31 मई तक लॉकडाउन लगाया गया था। फिर लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खोलने के लिए 1 जून से अनलॉक-1.0 की शुरूआत हुई जो 30 जून तक है। अब सरकार ने अनलॉक-2.0 की तैयारियां शुरू कर दी हैं। सूत्रों के मुताबिक, 30 जून को अनलॉक-2.0 को लेकर गाइडलाइन जारी की जा सकती है। अधिकारियों ने सीएनएन-न्‍यूज 18 को बताया कि इस बार इंटरनेशनल फ्लाइट्स, स्कूलों और मेट्रो को चालू करने पर सरकार का फोकस रहेगा।
अनलॉक 2.0 की प्रक्रिया से जुड़े एक सरकारी अधिकारी ने इस खबर की पुष्टि की है कि जल्‍द ही अनलॉक-2.0 को लेकर गाइडलाइन जारी की जा सकती है। साथ ही कुछ अंतरराष्ट्रीय मार्गों को निजी वाहकों के लिए खोला जा सकता है। जबकि मेट्रो सेवाओं को फिर से शुरू करने में समय लग सकता है।

मेट्रो शुरू करने में हो सकती है देर
सभी बड़े शहरों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की बढ़ती संख्‍या को देखते हुए केंद्र सरकार अभी मेट्रो ट्रेनों के संचालन को शुरू करने में संकोच कर रही है। दिल्‍ली में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है। मुंबई में थोड़ा सुधार है, लेकिन अब उपनगरों में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। दक्षिण में चेन्‍नई ने कोरोना के ग्राफ को नियंत्रित करने के लिए दोबारा लॉकडाउन लगाया है। बेंगलुरु में भी मामले बढ़ने पर आंशिक लॉकडाउन लगाया गया है। ऐसे में मेट्रो का संचालन दोबारा शुरू करने में थोड़ा समय लग सकता है।

शिक्षण संस्थान
कोरोना वायरस महामारी के बढ़ने की रफ्तार को देखते हुए सरकार अभी शिक्षण संस्‍थानों को भी खोलने पर संकोच कर रही है। कर्नाटक को छोड़कर अधिकांश राज्‍यों ने अपनी बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी हैं। सीबीएसई और आईसीएसई ने कक्षा 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षा कैंसिल करने के बाद रिजल्ट जारी करने के लिए वैकल्पिक ग्रेडिंग योजना की तैयारी की है। गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए अनलॉक-1 के दिशानिर्देश के अनुसार, राज्‍यों के परामर्श से स्‍कूलों और कॉलेजों पर निर्णय लिया जाना था।
स्‍कूलों/कॉलेजों को राज्‍यों के परामर्श से खोला जाना था। राज्‍य सरकारें/केंद्र शासित प्रदेश का प्रशासन इस पर संस्‍थागत स्‍तर पर अभिभावकों और अन्य हितधारकों के साथ परामर्श कर सकता है। फीडबैक के आधार पर, जुलाई में फिर से शिक्षण संस्‍थानों को खोलने पर निर्णय लिया जा सकता है। 30 मई की गाइडलाइन में ऐसा कहा गया था।

 हवाई यात्रा

कुछ अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर निजी वाहकों को संचालित करने की अनुमति देने पर चर्चा चल रही है। दरअसल, अमेरिकी प्रशासन ने भारत के वंदे भारत मिशन पर आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि इस योजना के तहत एअर इंडिया अमेरिका के लिए उड़ान भर रहा है लेकिन अमेरिकी वाहकों को अमेरिका-भारत मार्गों पर उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी जा रही है।
इसको लेकर अमेरिका ने वंदे भारत मिशन को अनुमति न देने की धमकी दी है। यूएई ने भी वंदे भारत मिशन पर ऐसी ही आपत्ति जताई है। वहीं केरल के मुख्यमंत्री विजयन ने भी केंद्र सरकार से दुबई और अन्य खाड़ी देशों के लिए उड़ान भरने की अनुमति देने को कहा है।

श्रम: रोजगार को बढ़ावा देने पर होगा जोर

अनलॉक 2 में श्रम शक्ति के लिए रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए कुछ अन्‍य योजनाओं की भी घोषणा की जा सकती है। केंद्र सरकार ने यूपी, बिहार, बंगाल और ओडिशा जैसे राज्यों से कहा है कि प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में वह केंद्र को बताएं। इन राज्‍यों में भारी संख्‍या में प्रवासी मजदूर अन्‍य राज्‍यों से लौटे हैं। अधिकारियों ने कहा कि अनलॉक-2 में कुटीर उद्योगों और स्थानीय श्रम शक्ति के रोजगार को प्रोत्साहित करने पर ध्‍यान केंद्रीय रहेगा। इस चरण में उद्योगों की आत्म निर्भरता बढ़ाने पर भी फोकस रहेगा।